Thursday, August 24, 2017

WATCH : GMOs Revealed - Episode 1 online for today


image
Just wanted to remind you, Episode 1 of GMOs Revealed is still live for a short time...
If you haven't seen it yet, make sure you do before it's taken down tonight and replaced by Episode 2.
The history of GMOs is rife with frightening facts, and you do not want to miss this opening of the series, since it sets the tone for the entire program.
Your link for episode 1 is right here:
image
Be sure to watch ASAP. We'll be taking it down @ 9 PM EST / 6 PM PST to make room for Episode 2.
Remember--each episode is only up for 24 hours. So click the link above and watch it NOW.
Also, don't forget to share the episode with your friends and family, they need to see this as well.
With Purpose, 
image

Monday, April 3, 2017

Posters - 5th Nagpur Beejotsav

5th Nagpur Beejotsav 
On 7,  8 and 9 APRIL 2017 
(begins on 7th from 2PM till 10 PM and on 8th & 9th from 10 AM to 10 PM)
at MURE MEMORIAL HOSPITAL, Amravati Road, Near Variety Square, Nagpur
OPEN FOR ALL 




Bengal Muslin Khadi @ 5th Nagpur Beejotsav

5th Nagpur Beejotsav 
On 7,  8 and 9 APRIL 2017 
(begins on 7th from 2PM till 10 PM and on 8th & 9th from 10 AM to 10 PM)
at MURE MEMORIAL HOSPITAL, Amravati Road, Near Variety Square, Nagpur
OPEN FOR ALL 


Sunday, April 2, 2017

Nagpur Beejotsav 2017 Invitation for Exhibition

Dear friends,

We are happy to invite you to our 5th year of BEEJOTSAV at Nagpur from 7th to 9th April 2017, a carnival of organic food, foodgrains, spices and the celebration of the sustainable, eco-friendly life style.

We, at BEEJOTSAV, are a varied group of organic farmers, seed savers, urban farmers and consumers who have been showcasing organic food for four years. We link grass roots farmers and the urban consumer.

We believe that safe, chemical-free food is the right of every citizen and our movement is a step towards making it available to the urban consumer.

We invite you to exhibit your products by taking a stall.

Festival date: 7th, 8th & 9th April 2017
Time: begins on 7th from 2PM till 10 PM and on 8th & 9th from 10 AM to 10 PM
Venue: Mure Memorial Hospital, Amravati Road, Near Variety Square, Nagpur.
Stall size: 8’ X 8’
Stall charges: Rs 2,500/- (for 3 days, doesn’t include food and accommodation charges)

To book your stall(s) please fill up the form here: https://goo.gl/forms/X0870F7B42BZX6jF3

After filling up the form, please wait for confirmation from our team. After confirmation (if not received already) please go ahead with payment.

Our account details:
a/c name: Amhi Amchya Arogyasathi
State Bank of India a/c no: 11643200644
IFSC: SBIN0005909

Please inform us once you’ve made the payment.

Your participation will make our event a success and help farmers and urban people transform India.

Regards,
Beejotsav Coordinators
Kirti Mangrulkar 9552556465 k2015.mangrulkar@gmail.com
Akash Naoghare 9766912745 anaoghare@gmail.com
Rupinder Nanda 9860731666 rupindernanda@gmail.com
Anant Bhoyar 9049641474 anantbhoyar180@gmail.com
Ashwini Aurangabadkar 9890515814 ashwini.aurangabadkar@gmail.com
Shyamala Sanyal 9850303318 shyamalasanyal@gmail.com


Link to updates on Beejotsav-2017 :
http://forgmofree.blogspot.com/2017/03/2017-april-7-8-9-nagpur-beejotsav-5th.html

Friday, March 17, 2017

2017 APRIL 7, 8, 9 - THE NAGPUR BEEJOTSAV - 5th year

ORGANIC FOOD, HEIRLOOM SEEDS AND SUSTAINABLE LIVING CARNIVAL

The Nagpur Beejotsav is an attempt to reach safe, organic and affordable food to consumers in and around Nagpur. We aim to directly connect consumers and producers and reduce exploitation in the value chain. This year, the Fifth Ngur Beejotsav Carnival will be on 

On 7,  8 and 9 APRIL 2017 
(begins on 7th from 2PM till 10 PM and on 8th & 9th from 10 AM to 10 PM)
at MURE MEMORIAL HOSPITAL, Amravati Road, Near Variety Square, Nagpur

OPEN FOR ALL

We will have stalls of:
*Grains * Spices *Cold Pressed Oils *Jaggery *Toxin-Free, Value added Products

Beyond indigenous seeds and agriculture we will focus on other aspects of sustainability 
the tools, technologies, experiments and approaches for the sustainable lifestyle. 
Expect to see different stalls               
*Composting and Urban Waste Management  *Terrace Gardening  *Smokeless Cooking  
*Solar Equipment   *Eco-Friendly Products  *Books and Magazines  *Natural Fertilizers

The other part of the Beejotsav will have stalls of farmers and research organisations for indigenous seeds and cotton. Learn about toxin-free food, listen to lectures, songs, watch films, buy eco-friendly products, create contacts with farmers and celebrate the sustainable lifestyle. 

All year round we are involved in sharing experiences, heirloom seeds, awareness programs, advocacy, khadi promotion etc 

We invite you to be part of this movement for a sustainable and exploitation-free society.

 Nagpur Beejotsav Group


 Contact  for further details:
Rupindar Nanda +91 9860731666  |  Shyamala Sanyal +91 9850303318
         Prachi Mahurkar +91 9823612468  | Ashvini Aurangabadkar +91 9890515814
Akash Naoghare +91 9766912745 | Kirti Mangrulkar +91 9552556465

Fb Beejotsav Page https://www.facebook.com/nagpurbeejotsav/

Join. Support. Share. 
Do inform your contacts, esp. in & around Nagpur 

For STALL BOOKING : 
 http://forgmofree.blogspot.com/2017/04/nagpur-beejotsav-2017-invitation-for.html


Monday, January 16, 2017

GSM c2c - जाहीर आवाहन - हिंदी (Appeal in Hindi)

जाहीर आवाहन
ग्राम सेवा मंडल, वर्धा के पूनी संयंत्र बदलने के लिये आर्थिक सहयोगका आवाहन!
प्रिय मित्र,
आप जानते ही होंगे की १९३४ सााल में विनोबा भावे स्थापित ग्राम सेवा मंडळ यह संस्था, स्थानीय कात्तिनों, बुनकारों, रंगरेजों की मदद से बढीया कपडा बनाने की प्रक्रिया में लगी हुई है. हमें यह बताते हुए ख़ुशी हो रही है की अब हमारे यहां देसी कपास (non GM) से कपडा बनाने की प्रक्रिया में तेजी आयी है. लेकीन इसमें कुछ मुश्किलें भी खडी हुई है, जिसके बारे में हमें विश्वास है की वे आपकी मदद से सुलझायी जा सकेगी. हमारी मुख्य दिक्कत पुनी बनाने की मशीनें पुरानी होने की वजह से है उन्हें बेहतर उत्पादन के लिए बदलना जरुरी हो गया है. ये मशिनें बदलने से कपास से कपडा बनाने की प्रक्रिया ज्यादा सक्षमतासे स्थानीय तौर पर होने लगेगी.

ग्राम सेवा मंडल में कताई पूर्व विभाग के सक्षमीकरण से कैसे मदद होगी?
नीचे दी गयी आकृती से कपास से कपडा बनाने की प्रक्रिया का पता चलता है. इसमे हम समझ सकते है की कताईपूर्व विभाग (जिससे हमें पुनी मिलती है) सूत प्राप्त करने  में कितना महत्वपूर्ण है.
  • अभी किसान GM (बीटी)कपास के बिजोंपर अवलंबित है. जो विशैला तंत्रज्ञान है. देसी, non GM कपास के बीज के इस्तमाल से किसानोन की स्थिती सुधारने में मदद होगी. हम महसूस करते है की ऐसे कपास से कपडा बनणे की प्रक्रिया खेती में शाश्वतता लाने और स्थानीय तौरपर स्वावलंबी बनणे में मददरूप होगी.
  • छोटे धागे के देसी कपास से पूनी बनाने के लिए यह मशीने उपयुक्त है। विदर्भ के स्थानीय प्रजातीयोंसे ४० अंक तक का  सूत बनाना संभव है. किंतु उसके लिये आवश्यक कताईपूर्व विभाग यहां नहीं है. सभी स्थानीय खादी निर्माता महाराष्ट्र से बाहर के केंद्रीय पुनी प्लांट पर अवलंबित है. इस कारण शुद्ध और अच्छी गुणवत्तापूर्ण पूनी समयपर मिल नाही पाती. बढिया सूत और कपडा मिलना इस कारण मुश्कील हो जाता है.
  • विदर्भ महाराष्ट्र का सबसे ज्यादा कपास पैदा करनेवाला प्रदेश है. लेकीन फिर भी कपास उत्पादक किसान कमा नहीं पाते है. शायद इसलिये की, किसान बाजारभावपर कपास बेचने मजबूर है. यदी किसान कपास का अंतिम उत्पाद कपडा स्वयं बनाकर सीधे ग्राहक को बेच पाये तो शायद ज्यादा कामा पाये. यह तभी संभव है जब स्थानीय कपास उसी परिसरमें पुनी बनने के लिये इस्तेमाल किया जा सके. एक बार पूनी स्थानीय तौरपर बनने लग जाये तो. गांव के स्तरपर कातना और बुनना संभव हो सकेगा.

अत: यदि कताईपूर्व विभाग हमारे पास हो तो वह इन सबके लिये फायदेमंद होगा- १)देशी non GM कपास उगानेवाले किसान २) वे लोक जो स्थानीय तौरपर सूत और कपडे का उत्पादन कर रहे है ३) वे ग्राहक जिन्हे हम पर्यावरणीय, आर्थिक और शाश्वत ढंग से कपडे की आपूर्ति कर पायेंगे.
अत: हम आपकी मदद चाहते है- कताईपूर्व  प्रक्रिया की- रेचाई, धुनाई और पूनी बनाने की पूरी मशिनरी खरीदने के लिये. २७० किसान, ३५५ कत्तीने और २४० बुनकरों के परिवारोंको ये मशीन खरीदने से पुरे साल भर फायदा होते रहेगा. ये मशीने खरीदने करीब २० लाख रुपये आवश्यक है. आपके सहभाग की किसी भी रकम का स्वागत है!

सुती कपडा एक तरीका मात्र नहीं है,  वह तो धून के उमंग के साथ बीज बोते, पौधे बढाने, सूत कातने और बुनने की बात है. वह हमारे जीवन और पर्यावरण पर कई तरीकोंसे असर करती है. आज अच्छे स्वास्थ और जीवन के लिये ‘स्लो – फूड’ (धीमा अन्न) (प्राकृतिक, स्थानीय और सेंद्रिय) का नारा दिया जाता है. वैसे ही ‘स्लो क्लोथ’ (धीमा कपडा) भी आवश्यक है.

आपकी छोटीसी मदद हमे स्थानीय तौरपर इन्फ्रास्ट्रक्चर मजबूत करने और गांव स्तरपर स्वावलंबी होने का लंबा रास्ता चलने में सहायता करेगी. अनेकोंको पर्यावरणीय और समग्रता से सुरक्षित कपडा इससे प्राप्त हो सकेगा.
धन्यवाद !

करुणा फुटाणे  (+91 7152 244722, +91 9422633771)
अध्यक्ष, ग्राम सेवा मंडळ, गोपुरी, वर्धा – 442001 महाराष्ट्र.

तन्मय जोशी (+91 8087502186)  |  ओजस सु. वि.(+91 9403579416) |  तेजल वि. (+91 9833707598)

हम में से किसी के साथ संपर्क करें अथवा gramsewamandal@gmail.com पर ‘पुनी प्लांट के लिये सहयोग राशी’ ऐसा विषय लिखकर इमेल करें.

for PDF fle of this text https://drive.google.com/drive/u/0/folders/0B2uzUg1sJZQ0bVI1RWZodWF1LTA